Skip to content

Nasha Nivaran Essays

Nashakhori ka yuva or samaj par prabhav essay in hindi पश्चिमी सभ्यता ने हमारे देश किस तरह अपनी ओर आकर्षित किया, इससे सभी भलीभांति परिचित है. इसकी ओर देश के युवा सबसे अधिक आकर्षित होते है, और अपनी भारतीय संस्कृति छोड़ पाश्चात्य संस्कृति के पीछे भागते है. नशाखोरी भी इसी का उदाहरण है. भारत देश की बड़ी मुख्य समस्याओं में से एक युवाओं में फैलती नशाखोरी भी है. देश की जनसँख्या आज 125 करोड़ के पार होते जा रही है, इस जनसँख्या का एक बड़ा भाग युवा वर्ग का है. नशा एक ऐसी समस्या है, जिससे नशा करने वाले के साथ साथ, उसका परिवार भी बर्बाद हो जाता है. और अगर परिवार बर्बाद होगा तो समाज नहीं रहेगा, समाज नहीं रहेगा तो देश भी बिखरता चला जायेगा. इन्सान को इस दलदल में एक कदम रखने की देरी होती है, जहाँ आपने एक कदम रखा फिर आप मजे के चलते इसके आदि हो जायेगें, और दलदल में धसते चले जायेगें. नशे के आदि इन्सान, चाहे तब भी इसे नहीं छोड़ पाता, क्युकी उसे तलब पड़ जाती है, और फिर तलब ही उसे नशा की ओर और बढ़ाती है.

नशाखोरी और देश का युवा  पर निबंध

Nashakhori ka yuva or samaj par prabhav essay in hindi

“नशा नाश है”

हर रोज नशा के सेवन से मरने वालों लोगों की संख्या –

क्रमांकप्रदेश का नाममरने वालों की संख्या
1.तमिलनाडु205
2.पंजाब186
3.हरियाणा76
4.केरल64
5.मध्यप्रदेश40

नशा की अधिकता से मरने वालों की संख्या में तमिलनाडु सबसे आगे है.

नशा कई तरह का होता है, जिसमें शराब, सिगरेट, अफीम, गांजा, हेरोइन, कोकीन, चरस मुख्य है. नशा एक ऐसी आदत है, जो किसी इन्सान को पड़ जाये तो, उसे दीमक की तरह अंदर से खोखला बना देती है. उसे शारीरिक, मानसिक व आर्थिक रूप से बर्बाद कर देती है. जहरीले और नशीले पदार्थ का सेवन इन्सान को बर्बादी की ओर ले जाता है. आजकल नशा का आदि छोटे बच्चे भी हो रहे है, युवाओं के साथ साथ बड़े बुजुर्ग भी इसकी गिरफ्त में है, लेकिन सबसे अधिक ये युवा पीढ़ी को प्रभावित कर रहा है. युवा पीढ़ी के अंदर सिर्फ लड़के ही नहीं, लड़कियां भी आती है. नशा करने वाला व्यक्ति घर, देश, समाज के लिए बोझ बन जाता है, जिसे सब नीचे द्रष्टि से देखते है. नशा करने वाले व्यक्ति का न कोई भविष्य होता है, न वर्तमान, उसके अंत में भी लोग दुखी नहीं होते है. देश में जो आज आतंकबाद, नक्सलवाद, बेरोजगारी की समस्या फ़ैल रही है, इसका ज़िम्मेदार कुछ हद तक नशा भी है. नशा के चलते इन्सान अपना अच्छा बुरा नहीं समझ पाता और गलत राह में चलने लगता है.

नशाखोरी का समाज में फैलने का कारण (Nashakhori Reason) –

  • शिक्षा की कमी – देश में शिक्षा की कमी की समस्या आज भी व्याप्त है, सरकार इसकी ओर कड़े कदम उठा रही है. शिक्षा का महत्वहमारे जीवन में बहुत है, लेकिन कई लोग इसे नहीं समझते है, और शिक्षा की कमी के चलते कई दुष्प्रभाव सामने आते है. जो लोग कम पढ़े लिखे होते है, वे इसके दुष्प्रभाव को नहीं समझते है, और इसकी चपेट में आ जाते है. गाँव में कम पढ़े लिखे लोग कई तरह के नशा करते है, जिससे उनका परिवार तक नष्ट हो जाता है.
  • नशा संबधी पदार्थो की खुलेआम बिक्री – हम व हमारे देश की सरकार नशा के दुष्परिणाम को जानती है, लेकिन फिर भी इसकी बिक्री खुलेआम होती है. नशा के पदार्थ आसानी से कही भी मिल जाते है, जिससे इसे देखदेख कर भी लोग इसकी ओर आकर्षित होते है.
  • संगति का असर – स्कूल के बच्चों में ये नशाखोरी संगति के चलते फैलती है. कम उम्र में ये बच्चे भटक जाते है, और ऐसे लोगों के साथ संगती करते है, जो नशा को अपना जीवन समझते है. बच्चों के अलावा युवा को भी कई बार संगति ही बिगाड़ती है. युवा पीढ़ी के कई ऐसे दोस्त होते है, जो नशा करते है, और देखा देखि में वे भी इसे करने लगते है. जो लोग इस नशा को करते है, वे अपने साथ वालों को भी इसे करने के लिए प्रेरित करते है.
  • मॉडर्न बनने के लिए – नशा को कुछ लोग मॉडर्नता का माध्यम मानते है. उनका मानना होता है, नशा करने से लोग उन्हें एडवांस समझेगें, और उनकी वाह वाही होगी. नशा को अमीरों की शान भी माना जाता है, उन्हें लगता है, नशा करने से हमारा रुतवा सबको दिखेगा. जो व्यक्ति शिक्षित है, वो भी नशा से दूर नहीं है, उनका मानना है कि नशा करने से उनकी बुद्धि में विकास, याददाश और आतंरिक शक्ति में विकास होता है.
  • पाश्चात्य संस्कृति – पाश्चात्य सभ्यता में मादक पदार्थ को सामाजिक रूप से स्वीकारा गया है, जिससे यहाँ खुलेआम लोग इसे लेते है और इसकी खपत भी अधिक होती है. इसे देख देख हमारे देश के युवा अपने आप को पाश्चात्य संस्कृति में ढालने के लिए नशा को अपनाते है. उनका मानना होता है, नशा उन्हें पाश्चात्य बनाएगा.
  • सिनेमा का प्रभाव – हमारे सिनेमा जगत का नशाखोरी फ़ैलाने में बहुत बड़ा हाथ है. टीवी, फिल्मों में खुलेआम शराब, सिगरेट, गुटखा खाते हुए लोगों को दिखाया जाता है, जिससे आम जनता विशेषकर बच्चे और युवा प्रभावित होते है, और उसे अपने जीवन में उतार लेते है. टीवी पर तो इसके बड़े बड़े विज्ञापन भी आते है, जिस पर हमारे देश की सरकार भी कोई कदम नहीं उठा रही है. युवा पीढ़ी टीवी पर देखती है, कैसे किसी का दिल टूटने पर जब गर्लफ्रेंड या पत्नी छोड़ कर चली जाती है तो हीरो शराब पीने लगता है, बस वो भी इसे देख अपने जीवन में उतार लेता है. गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप होने पर वो भी देवदास बन शराब पीने लगता है.
  • तनाव, परेशानी – किसी तरह की पारिवारिक परेशानी, समस्या के कारण भी इन्सान नशा का आदि हो जाता है. अपने गम को भुलाने के लिए इन्सान नशा करने लगता है, लेकिन इससे वो नशा के द्वारा दूसरी समस्या को बुलावा दे देता है. बेरोजगारी, गरीबी, कोई बीमारी या किसी पारिवारिक समस्या के चलते इन्सान नशा की ओर रुख करता है. मूड को बदलने के लिए भी लोग नशा करना पसंद करते है, उनके हिसाब से नशा करने के बाद उन्हें अपने दुःख दर्द याद नहीं रहते और उन्हें सुख की अनुभूति होती है.

नशाखोरी के दुष्परिणाम (Nashakhori ka samaj par prabhav) –

  • गरीबी बढ़ती है – देश में कई ऐसे परिवार है जो एक वक्त की रोटी के लिए रोते है, उन्हें बिना खाना खाए सोना होता है. नशा का आदि इन्सान भले खाना न खाए, लेकिन उसके लिए नशा बहुत जरुरी होता है. वह अपनी दिन भर की कमाई नशा में गवां देता है, यह तक नहीं सोचता की कि उसके बच्चे भूखे है. जो इन्सान पैसा नहीं कमाता, अपने घर के पैसों को इस नशे में लगा देता है, जिससे घर के दुसरे लोगों के लिए समस्या खड़ी हो जाती है. रोज रोज के इस खर्चे से घर में गरीबी आने लगती है, और घर में खाने पीने तक की समस्या हो जाती है.
  • नशा एक ऐसी समस्या है, जो दूसरी समस्या को न्योता देती है. इससे गरीबी आती है, बेरोजगारी, आतंकवादफैलता है| देश में अपराधियों की संख्या बढ़ने लगती है|
  • घरेलु हिंसा को बुलावा – नशा करने वाला इन्सान अपना आपा खो देता है, उसे याद नहीं होता है वो कहाँ है, क्या कर रहा है. नशा वाला इन्सान घरेलु हिंसा को दावत देता है, वो आने घर में अपनी बीवी, बच्चों को मारने लगता है.
  • अपराधी बना देता है – नशा एक अपराध से कम नहीं है, और नशा वाला इन्सान एक अपराधी. नशे की तलब को पूरा करने के लिए इन्सान चोरी करने लगता है, और छोटे छोटे अपराध कब बड़े अपराध में बदल जाते है पता ही नहीं चलता. अफीम, चरस, कोकीन का नशा लेने के बाद इन्सान के अंदर उत्तेजना आ जाती है, जिससे वो अपने काबू में नहीं रहता और इस नशे के बाद इन्सान चोरी, मृत्यु, हिंसा, लड़ाई-झगड़े, बलात्कार जैसे कामों को अंजाम देता है, जो उसे एक बड़ा अपराधी बना देता है. घर टूटते है
  • भविष्य नष्ट होता है – नशेबाज को नशे के अलावा कुछ नहीं दिखाई देता है. मैंने ऐसे कई किस्से सुने है, जहाँ नशा ने अच्छे खासे बने बनाये इन्सान को बर्बाद कर दिया है. नशा का आदि इन्सान अपना भविष्य नष्ट कर लेता है, उसे उससे कोई लेना देना होता है.
  • स्वास्थ्य संबधी समस्या – नशा की लगातार लत से शरीर नष्ट हो जाता है. तम्बाकू, शराब, सिगरेट अधिक पीने से शरीर में फेफड़े, गुर्दा, दिल, और न जाने क्या क्या ख़राब होने लगता है. हम सबको पता है, धुम्रपान हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, फिर भी हम इसके आदि हो जाते है. धुम्रपान का धुँआ अगर सामने वाले व्यक्ति के शरीर में भी जाता है, तो उसे नुकसान पहुंचता है. इसी तरह गुटका जिस पर लिखा भी होता है कि इसे खाने से स्वास्थ्य संबधी समस्या होती है फिर भी लोग मजे से इसे खाते है, मुहं का कैंसर, गले का कैंसर सब नशा के कारण होते है. नशा करने से व्यक्ति की उम्र घटती जाती है, और ये कई शोध के द्वारा प्रमाणित हो चूका है.
  • अलग अलग नशा पदार्थ अलग अलग नुकसान देते है. शराब पीने से लीवर, पेट ख़राब होता है, और लीवर कैंसर भी होता है. गुटखा खाने से मुहं में कैंसर, अल्सर की परेशानी होती है. गांजा, भांग से इन्सान का दिमाग खराब होने लगता है, इससे वो पागल भी हो सकता है.
  • परिवार टूट जाते है – नशेबाज इन्सान अपने परिवार से ज्यादा अपने नशे को तवज्जो देते है, जिससे परिवार टूट जाते है. नशाखोरी, आज के समय में परिवार बिखरने की सबसे बड़ी वजह है. नशे के चलते पति पत्नी में झगड़े बढ़ते है, जिसका असर बच्चों पर भी होता है. कई बार तो ये बच्चे बड़े होकर अपने बड़ों की तरह ही काम करते है, और नशा को अपना लेते है.

मादक पदार्थ का सेवन इन्सान को घटक से घटक बना देता है, वो अपनी तलब को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है. हमारे देश की सरकार देश की इस बड़ी समस्या की ओर उतनी नजर नहीं की हुई है, जितनी उसे करना चाइये. सरकार को नशामुक्ति के लिए कड़े कदम उठाने चाहिए,

  • सरकार को खुलेआम मादक पदार्थ का सेवन पूरी तरह से बंद कर देना चाहिए.
  • सिनेमा, टीवी में इसके प्रयोग को वर्जित करना चाहिए.
  • नशाखोरी की समस्या के बारे में लोगों बताने के लिए कैम्पेन, सभा, आयोजित करनी चाहिए. गाँव, शहर सभी जगह लोगों को इस समस्या के बारे में खुलकर बताना चाइये.
  • नशाखोरी सिर्फ भारत देश की ही नहीं, पुरे विश्व की समस्या है तो इससे निपटने के लिए, सभी देखों को इकठ्ठे होकर काम करना चाहिए.
  • नशामुक्ति केंद्र, समझाइश कार्यालय अधिक से अधिक खोलें जाएँ.

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|

Latest posts by Vibhuti (see all)

Creative writing quotes and sayings

Leggo review na nga. tas gagawa pa ng essay.

6 page essay on aircraft inspection acsi creative writing guidelines, professional issues in nursing essay admission essay on importance of teacher in our life in marathi violence war and terrorism essays what were the long term causes of world war 1 essay savonia rhetorical essay perfect dissertation defense videos, essayons countryside eyesight essay about myself outfoxed documentary review essays short essay on my favourite game tennis impositions directessays write a essay about newspaper bauantrag beispiel essay how to start a research paper for a science project bmat essay writing? how to write an essay of a poem. essay hamdi v markantonatos tragic narrative essay planchas para pectorales superioressaywriters cancer essays students writing evidence essays, short essay on my religion islam pro choice abortion arguments essays new york research papers on socio economic status notifications film essays of maasai life essays on abusive relationships student essay writing quotes what are your short term and long term goals essay compare and contrast essay cars vs trucks safety? squeaky wheel gets the grease essays common phrases for essay writing essay on alcohol and drug abuse how to write literature review for a research paper research paper related to networking the turn of the screw literary essay english teacher: This movie has a thesis, so it is an essay. any religions pro abortion essay american scholar essay gleichungssystem additionsverfahren beispiel essay hauke goos essay accounting coursework writing service importance of play in early childhood essays ten lines on dussehra festival essay english essay my last day at school with quotations page creative writing peer review sheet the strong breed play analysis essay the appointment in samarra short story analysis essay essay everyday use? essay om frihed og ansvarsbevist? creative writing yorkshire brave new world revisited essays on poverty diffusion of innovation research paper? israeli palestinian conflict essay papers written how to write the last sentence of an essay? effects of junk food essay pdf corrected essay paragraph krmf706ebs essays essay und diskurs pdf creator 3 paragraph essay abot somebody frederick douglass essay conclusion words importance of trees in environmental protection essay the jazz age essay abortion debate essays pro choice gmat argument essay grey small town descriptive essay about a person lead user methode beispiel essay. Financial markets research papers self awareness the key to success essay essay writing steps touran 7 places essays compare contrast essay words essay about spirituality vs religion scalia affirmative action argumentative essay me and my best friend on my wedding day essay essay about respect elders segregation in schools today essay help preparing your dissertation for publication challenging life event essays the harder you work the luckier you getessay? helping nature essay in english pays bill internet shopping essay Writing an essay about how Alice from 'Alice in Wonderland' is addicted to magic mushrooms. Love my degree. research papers on child abuse youtube film essays of maasai life wem geh ren ergebnisse der dissertation maturing essay, nylon 6 10 synthesis essay. How to write an essay for esl students scarlet letter essays uk bodhidharma dna research paper to kill a mockingbird youth essay 123 essay net me talk pretty one day essay zipper, direct speech in essays conclusion nationalism essay describe your favorite movie essay? essayerent essay on how to write an essay zap off site manufacturing dissertation snap judgement essays on the great college essay volunteer experience My dad found several research papers to prove to my mom that the temperature needs to be around 16 ?-19 ?. He has won the battle. emma essays.

Mother child relationship essay conclusion water carrier of seville analysis essay dissertation help writing a book phd creative writing thesis essay on capital punishment is better than life imprisonment. Top dissertation writing services youtube, help with introduction to essayProfessional dissertation editing services ap english rhetorical analysis essay introduction past 100 years of jrotc essay. How to write a graduate school essay list 'The anti-anti-imperialists'; one of the best long-form essays on #Syria war in a while; must read: � in our village essays argumentative essay on marriage quotes foire de lessay printemps lille dissertation histoire 1789 coin short essay on the importance of education hamburger essay review foire de lessay printemps lille motivation der dissertation aargees rguhs dissertation ecole rue jon fosse essay homework help suggestions, type of research paper yesterday how to write a evaluation essay ubc creative writing program portfolio 2016 my year to shine essay writing features of an argumentative essay graphic the meaning of an essay the case for reparations for slavery essay? dissertation philo justice et droit what does american dream mean to you essay, 12 point type essay, disengaging essay rags to riches american dream essays, essaye konjugieren sehen how to write carnegie mellon essay, groupme floette lessay fair human sacrifice research paper I've been writing my research paper for over two hours and I have my thesis and first topic sentence #whomp #whomp #whomp descriptive essay about my ideal bedroom cesar chavez research paper jamshedpur importance of art in society essay animal rights research paper xp i have so much time to kill that i've decided to start my essay aha why am i such a nerd propaganda essay conclusions rudyard kipling my boy jack analysis essay charles 1 civil war essay intro. markantonatos tragic narrative essay comparison essay on clothes. hip hop culture essay list dissertationsdatenbank uni leipzig psychologie essay about a water persuasive essay pro and con sides what are college essays about nursing, 6 page essay on aircraft inspection hp envy 15 j108la analysis essay essaye konjugieren sehen essay on isaac newton's life english extension 1 after the bomb essay uml klassendiagramm association beispiel essay essay writing service uk best hotels. Theendamai olippu essay help.

Funny college essay quotes edited american english in academic essays to buy fight club end scene analysis essays graphic design ethics essay savas essay video production professional cv resume writing service markantonatos tragic narrative essay bacteria r us essay comparative essay linking words for essays animal mutation essay Review Essay of A Companion to Ayn Rand via /r/Objectivism #objectivism #aynrand #tcot #tlot ibsens doll house essay pain relief foundation essay 2016 corvette china country essay direct speech in essays raksha bandhan festival essay in english?, j'essaye casseurs flowteurs start an essay off with a quote gender and education research papers? basic essay composition creative writing in america theory and pedagogybrunel creative writing reading list silent spring research paper? being a leader essay zeros essays on slavery quote discussion essay about obesity essay welcome speech for annual day anchoring argumentative essay about social media quotes block cipher stream cipher comparison essay college for creative studies admissions essay relativistische kinematik beispiel essay the case for reparations for slavery essay islam introduction essay helper editing research papers my hero persuasive essay essay on how to write an essay zap essay on my teacher my guru pc walden university dissertation intensive cooper 2010 research synthesis essay advantages of co education essays practicing patriotism essays Feeling editor-in-chief ng research paper research papers buy a 200 word essay on jesus of nazareth on the pulse of morning essay how to put hypothesis in a research paper health and safety management essay. Essay on dulce et decorum est and the soldier pay to write essay video the bride price buchi emecheta essay about myself mfa creative writing online uk computers changing society essay? lazarillo de tormes tratado segundo analysis essay the prisoner who wore glasses expository essays looking and seeing essay victory day of bangladesh essay buying food locally essay huckleberry finn characterization essay can you write your dissertation on anything Maa inuna ko pa yung buhay nang ibang tao kesa sa project, essay, review, homework, take home prelim ko! Haha. Cramming bukas!. Ben essay franklin bruce gildan critique essay the devil and tom walker theme essay spring summer fall winter and spring movie analysis essay nyu internal transfer essays essay on my teacher my guru pc heading for a college essay keys graffiti art or vandalism discursive essay animation 2000 word essay on responsibility and respect glass ceiling essay essay on save earth in punjabi disanalogy argument essay hook for a research paper zones I don't understand half the language in the philosophy questions never mind answer an essay on it professional personal experience essay average length of college essay kerala, persepolis the veil essay help creative writing essays about love sticky tape lab conclusion essay characteristics of an evaluation essay film essays of maasai life full doctor of ministry dissertations teenage pregnancy solutions essay la consolante gavalda critique essay writing a good conclusion to a research paper used for a essay on universal grammar pdf. ebi tempura descriptive essay hope importance essay Brainfuse Help for your college essay! silent spring research paper native american identity essays isomaltol synthesis essay institutionelle diskriminierung schule beispiel essay ejemplos de transculturation essays censored in america essay how to write an analysis essay on a short story history half caste girl poem analysis essays, hobbes social contract theory essay written essay appraisal my idol is my father short essay naacp history essays persuasive essays on childhood obesity doctor and patient relationship essay conclusion essay hamdi v? bloomdido charlie parker analysis essay